ताज़े आम
भारतीय आम स्वाद, सुगंध और स्वाद की एक विस्तृत विविधता के साथ विभिन्न आकार, आकृति और रंग में मिलते हैं । भारतीय आम एक विशिष्ट उत्पाद है जो उच्च गुणवत्ता और पोषक तत्वों से भरा हुआ है । केवल एक आम दैनिक आहार की 40 % जरूरतों को पूरा कर सकता है तथा यह ह्रदय रोग , कैंसर और कोलेस्ट्रोल निर्माण को रोकने के लिए प्रतिरक्षक के रुप में कार्य करता है । इसके अलावा यह लज्जतदार फल पोटाशियम बेटा – करोटिन और एन्टी ओक्सीड़ैंटस का भंडार है । भारत में आम मुख्य गर्म जलवायु अथार्त उप -उष्णीय प्रदशों में समुद्रतल से 1500 मीटर का प्रदेशों में उपजाए जाते हैं । आम के लिए 27 डिग्री सेंटीग्रेड के लगभग तापमान अच्छा रहता है ।

गुणवत्ता के उच्च मानकों को बरकरार रखने के लिए प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में अद्यतन पैक हाउसों की स्थापना की गयी है । विभिन्न देशों की जरूरतों को दृष्टिगत रखते हुए , गरम पानी उपचार , वाष्प गर्मी उपचार और किरणीयन जैसी अन्तर्राष्ट्रीय अभिनिर्धारित सुविधाओं का सृजन विभिन्न उत्पादन क्षेत्रों व स्थनों पर किया गया है ।


उपभोक्ता संरक्षण और किसी आपातकालीन स्थिति के उत्पाद को तीव्रता से प्राप्त करने हेतु अद्वितीय उत्पाद पहचान प्रणाली , ट्रेसेबिलिटी , नेटवर्किंग और अवशेष निगरानी योजना विकसित की गयी ।


किस्में :
भारत में लगभग 1000 किस्में पायी जाती है । तथापि, केवल कुछ किस्मों की व्यावसायिक रूप से भारत भर में खेती की जाती है । भारत में आम की अधिकांश किस्मों की इष्टतम विकास और उपज के लिए विशिष्ट भौगोलिक – पर्यावरण की आवश्यकता होती है । उत्तरी /पूर्वी भारतीय किस्में दक्षिणी और पश्चिमी भारतीय किस्मों की तुलना में आमतौर पर देरी से उगती हैं । आम की स्थानीय किस्मों में से कुछ किस्में भारत के चरम दक्षिणी भागों में वर्ष भर फल देती हैं ।

 

प्रमुख व्यावसायिक किस्में इस प्रकार हैं :    

आंध्र प्रदेश बंगनापल्ली, सुवर्णरेखा, नीलम और तोतापरी
बिहार बॉम्बे ग्रीन, चौसा, दशहरी, फज़ली , गुलाबखास, किशन भोग, हिमसागर, जारडालु और लंगडा 
गुजरात   केसर, अलफांसो, राजापुरी, जमादार, तोतापरी, नीलम, दशहरी और लंगडा 
हरियाणा चौसा, दशहरी, लंगडा और फज़ली
हिमाचल प्रदेश चौसा, दशहरी और लंगडा
कर्नाटक अलफांसो, तोतापरी, बंगनापल्ली, पैरी, नीलम और मुलगोवा   
मध्यप्रदेश अलफांसो, बॉम्बे ग्रीन, दशहरी, फज़ली, लंगडा और नीलम
महाराष्ट्र अलफांसो, केसर और पैरी
पंजाब चौसा, दशहरी और माल्दा
राजस्थान बॉम्बे ग्रीन, चौसा, दशहरी और लंगडा
तमिलनाडू अलफांसो, तोतापरी, बंगनापल्ली और नीलम
उत्तर प्रदेश बॉम्बे ग्रीन, चौसा, दशहरी और लंगडा
पश्चिम बंगाल फज़ली, गुलाबखास , हिमसागर, किशनभोग, लंगडा और बॉम्बे ग्रीन

  

खेती के क्षेत्र :
आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, बिहार, गुजरात और तमिलनाडु प्रमुख आम उत्पादक राज्य है। उत्तर प्रदेश 23.47 % की हिस्सेदारी के साथ आम के उत्पादन में तथा उच्चतम उत्पादन में प्रथम स्थान पर है।


भारत तथ्य और आंकड़े :
विश्वभर में भारत ताजे आम का प्रमुख निर्यातक है। वर्ष 2020-21 के दौरान देश ने 21,033.58 मीट्रिक टन ताजे आमों का निर्यात करके 271.84 करोड़ रुपए / 36.23 मिलियन अमरीकी डॉलर अर्जित किए।


प्रमुख निर्यात लक्ष्य (2020-21): संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम, ओमान, कतर और कुवैत।